पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद, बंगाल के विभिन्न क्षेत्रों में हिंसा की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। भाजपा द्वारा उसके  कार्यकर्ताओं पर हमले के आरोप लगाए जा रहे हैं। अब पश्चिम मेदिनीपुर जिले के पंचखुंडी गांव में केंद्रीय राज्य मंत्री वी मुरलीधरन की कार पर हमला किया गया है। हालांकि केंद्रीय मंत्री को चोट नहीं लगी है, लेकिन कार क्षतिग्रस्त हो गई है।

वी मुरलीधरन भाजपा नेताओं की हालिया गठित  केंद्रीय टीम के सदस्य हैं, जो पश्चिम मेदिनीपुर में हिंसा के शिकार लोगों से मिलने गए थे। मुरलीधरन पश्चिम मेदिनीपुर में कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करके लौट रहे थे। उसी समय, कुछ स्थानीय लोगों ने उनकी कार पर हमला किया। इसमें उनकी कार क्षतिग्रस्त हो गई है। हालांकि, उन्हें चोट नहीं आई है। भाजपा नेताओं का आरोप है कि टीएमसी समर्थित गुंडों ने ही मंत्री की कार पर हमला किया।

दूसरी ओर, आज, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बंगाल में हिंसा के संबंध में अधिकारियों की चार सदस्यीय टीम को बंगाल भेजा है। यह टीम हिंसा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करेगी और पीड़ितों के परिवारों से मुलाकात करेगी। यह टीम गृह मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव के नेतृत्व में अपनी रिपोर्ट केंद्रीय गृह मंत्रालय को सौंपेगी। कोलकाता पहुंचने के बाद, टीम ने महानिदेशक और गृह सचिव के साथ बैठक की। इस बैठक में, टीम ने राज्य सरकार से अनुमति मांगी है, हालांकि राज्य सरकार ने अनुमति दी है या नहीं यह अभी तक साफ नहीं हुआ है।

बता दें कि चुनाव परिणाम सामने आने के बाद बंगाल के विभिन्न इलाकों में हिंसा की घटनाएं सामने आ रही हैं। भाजपा तथा टीएमसी द्वारा एक दूसरे पर आरोप लगाए जा रहे हैं| इस बीच कई फेक न्यूज़ भी सामने आई हैं| इस संबंध में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी रिपोर्ट तलब की थी, लेकिन राज्य सरकार की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है। पीएम नरेंद्र मोदी ने हिंसा के बारे में राज्यपाल जगदीप धनखड़ से बात करने के बाद स्थिति के बारे में जानकारी ली। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने हिंसा से पीड़ित परिवारों से मुलाकात की और ममता बनर्जी पर हिंसा भड़काने और हिंसा के समय चुप्पी बनाए रखने का आरोप लगाया।