मतदान सुबह 7 बजे शुरू होगा और शाम 6:30 बजे तक जारी रहेगा। 15,940 मतदान केंद्रों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। हावड़ा में नौ सीटों पर, दक्षिण 24 परगना में 11, अलीपुरद्वार में 5, कूचबिहार में 9 और हुगली में 10 सीटों पर मतदान हो रहा है।

जिन प्रमुख उम्मीदवारों का भाग्य इस चरण में दांव पर है उनमें बंगाल के पूर्व रणजी कप्तान मनोज तिवारी, राज्य के शिक्षा मंत्री और बेहला पश्चिम सीट से मौजूदा विधायक पार्थ चटर्जी, टॉलीगंज सीट पर भाजपा के केंद्रीय मंत्री बाबुल शामिल हैं। बेहला पूर्व सीट के लिए भाजपा उम्मीदवार है, सुप्रियो, पायल सरकार, पूर्व वन मंत्री राजीव बनर्जी। इसके अलावा, हुगली की चिनसुराह सीट पर भाजपा सांसद और अभिनेत्री लॉकेट चटर्जी का भाग्य भी इस चरण के बाद ईवीएम में बंद हो जाएगा।

बेहला पूर्व के भाजपा उम्मीदवार पायल सरकार ने कहा कि मेरे निर्वाचन क्षेत्र में 57% मतदाता महिलाएं हैं और मैं उन पर भरोसा कर रही हूँ। मैं लोगों से मतदान केंद्रों पर आने और वोट देने की अपील करती हूँ। सुरक्षा बल तैनात हैं और मुझे लगता है कि आज सब कुछ बहुत शांति से होगा। 

तीन चरणों में बंपर वोटिंग हुई है, बंगाल में पहले तीन चरणों के मतदान हो गए हैं जबकि मतदान 8 चरणों में होना है। पश्चिम बंगाल में तीसरे चरण में, 6 अप्रैल को, 84.61 प्रतिशत मतदान हुआ। राज्य में पहले और दूसरे चरण में क्रमश: 84.13 और 86.11 प्रतिशत मतदान हुआ था। राज्य की 294 विधानसभा सीटों में से 91 पर चुनाव संपन्न हो चुके हैं और आज 44 सीटों के लिए वोट डाले जा रहे हैं, जिसके बाद चार और चरण बचे हैं। परिणामों की घोषणा दो मई को पांच राज्यों के परिणामों के साथ की जाएगी।

चुनाव के तीसरे चरण से पहले कुछ स्थानों पर उम्मीदवारों पर छिटपुट हिंसा और हमले हुए। चौथे चरण से पहले हिंसा का दौर जारी रहा और कई प्रमुख नेताओं को निशाना बनाया गया। राज्य की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी ने भाजपा पर केंद्रीय बलों का मतदान को प्रभावित करने के लिए जबरदस्त दुरुपयोग करने का आरोप भी लगाया।