पश्चिम बंगाल के नदिया जिले के तेहट्टा में जनता को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को एक बार फिर राज्य में बीजेपी की बड़ी जीत का दावा किया है। इसके साथ ही उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर भी एक बड़ा बयान दिया है। जिसके तहत उन्होंने दावा किया है कि मतुआ, नामशुद्र और ऐसे समुदायों को नागरिकता दी जाएगी। इसके साथ ही शाह ने राज्य में घुसपैठ का मुद्दा भी उठाया। 

अमित शाह ने कहा, "मैं आज बंगाल के नए वर्ष की आप सभी को बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूँ। हम नए वर्ष में प्रवेश कर चुके हैं और 2 मई को दीदी की विदाई के साथ ही सोनार बंगाल के नए युग में भी प्रवेश करने वाले हैं।" इसी दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए शाह ने कहा, "राहुल बाबा बीजेपी के डीएनए के बारे में पूछते हैं। मैं बताना चाहता हूं कि D -डेवलपमेंट, N - नेशनलिज्म, A- आत्मनिर्भर भारत।"

घुसपैठ के मुद्दे पर गृह मंत्री ने कहा, "घुसपैठ करने वाले हमारे युवाओं की नौकरियाँ और गरीबों का खाना ले जाते हैं। अगर बंगाल में घुसपैठ नियंत्रित नहीं हुआ, तो यह केवल बंगाल ही नहीं पूरे देश के लिए खतरा होगा।"

उन्होंने बंगाल की मुख्यमंत्री पर भी नागरिकता मुद्दे को लेकर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, "क्या मतुआ, नामशूद्र और ऐसे दूसरे समुदायों को नागरिकता नहीं मिलनी चाहिए। दीदी कहती हैं कि वे जब तक सत्ता में रहेंगी, तब तक उन्हें नागरिकता नहीं मिलेगी।" शाह ने CAA के तहत इन समुदायों को नागरिकता देने का वादा करते हुए कहा, "जैसे ही हम सत्ता में आएंगे, तो जल्द से जल्द बीजेपी ऐसे समुदायों को सीएए के अंतर्गत नागरिकता देगी।"

बता दें कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा भी आज बंगाल पहुंचे हैं। जगत प्रकाश ने केतूग्राम में जनसभा के दौरान राज्य सरकार पर सवालिया निशाना साधते हुए कहा कि, 'हमने सुना था कि ममता जी मां, माटी और मनुष्य की बात करती थी। लेकिन 10 साल में हमने देखा कि ना मां की चिंता हुई, ना माटी की रक्षा हुई और ना ही मनुष्य की रक्षा हुई।' उन्होंने आगे कहा, 'अभी कुछ दिन पहले ममता जी के एक नेता ने दलितों के लिए ऐसे अपशब्द कहे जो हम बयान नहीं कर सकते। कहा कि इनको कितना भी दे दो यह बिक जाते हैं। लेकिन ममता जी ने आज तक उसकी भत्र्सना नहीं की। ममता जी सहित टीएमसी के सभी नेता दलित विरोधी हैं।' 

पश्चिम बंगाल में अभी कुल 294 सीटों पर मतदान जारी है और 2 मई को मतगणना प्रक्रिया शुरू होगी।