रितिका, बबीता फोगट और गीता फोगट की ममेरी बहन थी। उसने सोमवार रात को गांव बलाली में एक फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, रितिका ने 12 से 14 मार्च तक राजस्थान के भरतपुर के लोहागढ़ स्टेडियम में आयोजित राज्य स्तरीय सब जूनियर, जूनियर महिला और पुरुष कुश्ती टूर्नामेंट में भाग लिया।

फाइनल मैच 14 मार्च को खेला गया था, जिसमें रितिका एक अंक से मैच हार गई थी। इस हार के बाद, वह सदमे में थी और फिर 15 मार्च को लगभग 11 बजे बलाली गांव के घर में पंखे पर दुपट्टा डालकर आत्महत्या कर ली।

राजस्थान के झुंझुनू जिले के जैतपुर गाँव की रहने वाली 17 वर्षीय रितिका अपने फूफा द्रोणाचार्य अवार्डी महावीर पहलवान की गाँव बलाली में कुश्ती अकादमी में लगभग 5 वर्षों से अभ्यास कर रही थी। 53 किलोग्राम भार वर्ग में, राज्य स्तर पर एक अंक से हार ने रितिका को इतना तोड़ दिया कि उसने एक खतरनाक कदम उठा लिया। वह इससे पहले लगभग 4 बार राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भाग ले चुकी थी।