दिल्लीवासी जहाँ बेड, ऑक्सीजन, अस्पतालों में जगह की किल्लत से परेशान हैं। अब वहीं अस्पतालों के स्टाफ द्वारा की जा रही चोरी ने उन्हें मजबूर कर दिया है। दिल्ली के बड़े और जाने-माने अस्पताल महाराजा अग्रसेन अस्पताल से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है, जिसमें यह खुलासा हुआ कि अस्पताल के दो परिचारक (मेल नर्स) मरीज़ों की मौत के बाद उनके द्वारा लाए रेमडेसिवियर इन्जेक्शन चुराते थे और बाद में 30 से 40 हज़ार रुपयों में बेच देते थे। 

■ इस मामले की सुध लेते हुए दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने दोनों आरोपियों को तफ़्तीश के बाद गिरफ्तार कर लिया है, उनके नाम यशवंत और दीपक बताए जा रहे हैं।

बता दें कि पहले यशवंत को पंजाबी बाग़ के पास से धर दबोचा गया उसके बाद पूछताछ के दौरान उसने दीपक का नाम भी उगल दिया। इन दोनों के पास से कुल 5 रेमडेसिवियर इन्जेक्शन बरामद किए गए हैं।

■ पुलिस का कहना है कि ऐसी चोरी में अस्पताल के स्टाफ के साथ-साथ कई बड़े अस्पताल भी शामिल हैं। जिसकी छानबीन में दिल्ली पुलिस लगी हुई है। 

बता दें कि कालाबाज़ारी, वैक्सीन की किल्लत आदि को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट कई बार दिल्ली सरकार को फटकार लगा चुकी है।