देश में तीसरे चरण का टीकाकरण 1 मई से शुरू होने जा रहा है। जिसे लेकर राजस्थान सरकार की तरफ से फिलहाल के लिए इसे टालने का फैसला किया गया है। अब ऐसी ख़बर आ रही है कि राजस्थान के बाद महाराष्ट्र सरकार ने भी साफ कर दिया है कि 1 मई से वैक्सीनेशन के नए चरण की शुरूआत नहीं होगी।

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि युवाओं से विनती है कि वह थोड़ा सब्र बनाए रखें। उन्होंने बताया कि भारत बायोटेक से हर महीने तकरीबन 10 लाख वैक्सीन देने की बात हुई है जिसे बाद में बढ़ाकर 20 लाख तक ले जाया जाएगा। वहीं सिरम इंस्टीट्यूट से एक करोड़ डोज़ हर महीने देने की बात कही गई हैं।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य के सभी लोगों को वैक्सीन फ्री में लगाने की बात भी कही है। उन्होंने ने कहा, "सभी को मुफ्त में टीका दिया जाएगा, लेकिन टीकाकरण केंद्र पर भीड़ ना हो इसका ख्याल रखा जाए। 1.5 करोड़ लोगों को हम टीका लगा चुके हैं ये एक रिकॉर्ड है। वैक्सीन की सप्लाई कैसी हो, इसकी प्लानिंग कर जल्द ऐलान किया जाएगा।" साथ ही महाराष्ट्र सरकार के मंत्री आदित्य ठाकरे ने भी ट्विटर के जरिए लोगों को फ्री वैक्सीन लगाने की बात कही। 

वहीं स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि महाराष्ट्र में लॉकडाउन को बढ़ाया जा सकता है और यह 15 दिन का भी हो सकता है। लेकिन स्पष्ट रूप से अभी कुछ कहा नहीं जा सकता है। इस सिलसिले में अंतिम फैसला मौजूदा लॉकडाउन के आखिरी दिन ही किया जाएगा। 

बता दें कि राजस्थान सरकार ने भी वैक्सीन की सप्लाई में होने रही देरी के कारण ही नए चरण के टीकाकरण को टालने का फैसला किया है। वहीं राज्य सरकारों के बिल्कुल विपरीत केंद्र सरकार यह कह रही है कि राज्यों के पास एक करोड़ वैक्सीन स्टॉक में पड़ी हुई है। इसके पीछे भी कोई राजनीति हो रही है या फिर कुछ और यह कहा नहीं जा सकता। लेकिन वह कहते हैं ना कि गेहूं के साथ बेवज़ह घुन भी पिस जाता है, वैसे ही जनता इन सब के बीच पिस रही हैं।

यह भी पढ़ें...