जॉर्डन दुनिया के उन देशों में से एक ऐसे देश है जहाँ शाही परिवार राज करते हैं। यह साल जॉर्डन के शाही परिवार के लिए अच्छा नहीं रहा। उन्होंने कई समस्याओं का सामना किया है।  

आखिर कौन है हमजा? जॉर्डन की सेना ने क्यों गिरफ़्तार किया है?

 जॉर्डन के राजनीतिक अस्थिरता को लेकर अमेरिका क्यों है चिंतित?

हमजा, जॉर्डन के दिवंगत राजा हुसैन और उनकी पत्नी, रानी नूर का सबसे बड़ा बेटा है।वह स्वर्गीय राजा हुसैन को बहुत प्रिय थे। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि राजा हुसैन हमजा को सुकून की आंख कहा करते थे। वर्ष 1999 में जॉर्डन के क्राउन प्रिंस का खिताब हमजा को दिया गया था। राजा हुसैन की मृत्यु के समय, उन्हें राजशाही के लिए अनुभवहीन माना जाता था। इसलिए, जब वह राजा हुसैन का उत्तराधिकारी बने, तो कई तरह के सवाल भी उठाए गए। इसके बाद, राजा अब्दुल्ला ने जॉर्डन की गद्दी संभाली। अब्दुल्ला ने वर्ष 2004 में हमजा के क्राउन प्रिंस का खिताब छीन लिया। यह महारानी नूर के लिए एक बड़ा झटका था, जो अपने बेटे को जॉर्डन के राजा के रूप में देखना चाहती थी।

 सरकार की निंदा हमजा को चुकानी पड़ी है.... 

जॉर्डन दुनिया के उन कुछ देशों में से एक है जहां राजतंत्रीय व्यवस्था अभी भी कायम है। जॉर्डन के शाही परिवार के लिए यह संकट नया नहीं है। हालांकि, कोरोना महामारी के बाद, ये समस्याएं जॉर्डन राजशाही में सामने आई हैं। दरअसल, कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए तालाबंदी के प्रावधानों ने देश की अर्थव्यवस्था को पूरी तरह से मिटा दिया। जॉर्डन संकट के दौर से गुजर रहा है।   

राजकुमार हमजा अपने एक वीडियो में कहते हैं, फिलहाल देश में डर है। खुफिया पुलिस सरकार की निंदा करने वाले को गिरफ्तार कर रही है। उन्होंने कहा कि उनके स्टाफ को भी गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि उनके परिवार को नजरबंद कर दिया गया है। हमजा के व्यक्तिगत संचार के सभी साधनों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

कोरोना महामारी के अलावा, जॉर्डन में शरणार्थियों की समस्या ने भी देश की आर्थिक व्यवस्था में प्रमुख भूमिका निभाई है। जॉर्डन में बड़ी संख्या में शरणार्थी हैं। दरअसल, सीरिया में गृह युद्ध के बाद जॉर्डन की यह समस्या बहुत गंभीर हो गई है। सीरिया से बड़ी संख्या में नागरिकों ने जॉर्डन में शरण ली है।

जॉर्डन की राजनीतिक अस्थिरता अमेरिका को क्यों चिंतित करता है? 

दरअसल, जॉर्डन मध्य एशिया में एक प्रमुख अमेरिकी सहयोगी है। वह मध्य एशिया में अमेरिका का एक प्रमुख रणनीतिक साझेदार भी है। वह सुरक्षा अभियान में अमेरिकी सेना की मदद करता है। वह मध्य एशिया में इस्लामिक स्टेट के खिलाफ अमेरिकी अभियान में एक प्रमुख सहयोगी है।