देश में जारी हिंसा के बीच अफगान सरकार ने तालिबान आतंकियों पर लगाम लगाने के लिए कड़े कदम उठाए हैं।  अफगान सरकार ने देश में रात के कर्फ्यू की घोषणा की है।  टोलो समाचार एजेंसी ने गृह मंत्रालय के हवाले से बताया कि यह नया प्रावधान अफगान सरकार ने देश के 21 प्रांतों में तालिबान के खिलाफ लड़ाई में लिया है।

अफगानिस्तान रेडियो टेलीविजन के मुताबिक, यह फैसला इसलिए लिया गया है ताकि विभिन्न प्रांतों की राजधानी में तालिबान घुसपैठियों का पता लगाया जा सके।

अफगान सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में सुरक्षा बलों ने 262 तालिबान लड़ाकों को मार गिराया है।  वहीं, 176 तालिबान भी घायल हुए हैं।  हालांकि तालिबान ने इन आंकड़ों का खंडन किया है।  तालिबान ने अफगानिस्तान में तब से कहर बरपा रखा है जब से अमेरिकी नेतृत्व वाली विदेशी सेना ने मई में अफगानिस्तान छोड़ना शुरू किया था।  रिपोर्टों का दावा है कि तालिबान ने देश के 170 जिलों पर कब्जा कर लिया है।  गौरतलब है कि अफगानिस्तान से अपने सैनिकों को वापस बुलाने के अमेरिका के फैसले के बाद तालिबान यहां तेजी से उभरा है।

देश के अलग-अलग हिस्सों में बहुत खून-खराबा हो चुका है।  जवानों के साथ-साथ आम लोगों की भी जान-माल की क्षति हुई है।  इस बीच, पिछले हफ्ते कंधार के बाहरी इलाके में तालिबान की अफगान सेना के साथ भीषण लड़ाई हुई थी।  इसके जवाब में अमेरिका ने 22 जुलाई को आतंकियों के कब्जे वाले इलाकों पर एयरस्ट्राइक शुरू की थी।