किसान आंदोलन लगातार तेज होता जा रहा है| किसानों ने जहाँ अपनी बात रखने के लिए अपना यूट्यूब चैनल और अखबार खोल लिया है वहीँ दूसरी ओर सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म्स पर भी अपने विरोध को बुलंद करते दिख रहे हैं| इस बीच गुरुवार को ट्विटर पर हरियाणा और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री क्रमशः मनोहर लाल खट्टर और योगी आदित्यनाथ के  विरोध में  #KhattarYogiKisaanVirodhi ट्रेंड होता रहा| 

किसान पिछले 1 महीने से दिल्ली- सिंघु बॉर्डर पर कृषि कानूनों के विरोध में डटे हुए हैं| इस बीच 45 से ज्यादा किसानों की मौत प्रदर्शन में हुई है| इस बीच पीलीभीत में प्रदर्शन कर रहे किसानों पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया जिससे कई किसान घायल हो गए| वहीं हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को काले झंडे दिखाने के आरोप में 13 किसानों पर हत्या के प्रयास का मुकदमा चलाया गया है| इन्ही घटनाओं को लेकर ट्विटर पर लोगों का गुस्सा फूटा| 

गौरतलब है कि किसानों का यह आंदोलन तीन प्रमुख कृषि कानूनों के विरोध में पिछले एक महीने से चल रहा है| 22 दिसंबर को मनोहर लाल खटटर के काफिले को उस वक़्त रोककर किसानों ने नारेबाजी की और काले झंडे दिखाए जब वह अम्बाला में चनावी रैली के लिए जा रहे थे| इसके अलावा उत्तर प्रदेश में योगी सरकार पहले भी प्रदर्शनकारी किसानों पर 50 लाख का जुर्माना लगा चुकी है|