पिछले 24 घंटों में देश में लगभग 11 लाख COVID नमूनों का परीक्षण किया गया। इसके साथ, संचयी परीक्षण का आंकड़ा लगभग 13 करोड़ 37 लाख तक पहुंच गया है।

केंद्र सरकार और आईसीएमआर ने परीक्षण बुनियादी ढाँचे में बड़े पैमाने पर बदलाव किया है।

भारत की परीक्षण क्षमता ने प्रति दिन 15 लाख का आंकड़ा छू लिया है और सभी के लिए आसानी से सुलभ COVID19 परीक्षण सुनिश्चित किया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि  उच्च स्तर के परीक्षण से पहचान, शीघ्र अलगाव और COVID-19 मामलों का प्रभावी उपचार होता है। इसने कहा, यह कम फेटलिटी रेट की ओर भी जाता है।

इस साल जनवरी में पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में सिर्फ एक परीक्षण प्रयोगशाला से शुरू होकर, देश में आज कोविद के नमूनों की जांच के लिए दो हजार 134 प्रयोगशालाएं हैं जिनमें एक हजार 166 सरकारी और 968 निजी प्रयोगशालाएं शामिल हैं।