मंदिर ट्रस्ट के सदस्यों और अधिकारियों ने दानी सज्जन के इस प्रस्ताव पर प्रसन्नता व्यक्त की, उन्हें मौखिक रूप से मंदिर ट्रस्ट से अस्थायी स्वीकृति दी गई है। साथ ही इस शेड के ड्राइंग और निर्माण कार्य के लिए जिला कलेक्टर कांगड़ा और कमिश्नर राकेश प्रजापति से अनुमोदन प्राप्त करने के लिए आवेदन करने को कहा, ताकि सभी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद जिला कलेक्टर कांगड़ा से अनुमोदन प्राप्त करने के बाद, भक्त इस विकास कार्य को पूरा करें।


अनुमान के मुताबिक, इस काम के लिए 25 से 30 लाख तक की लागत आने का अनुमान है। माता के भक्त ज्वालाजी मंदिर में आये हैं और वे अपने साथ तकनीकी विभाग की एक टीम भी लाये हैं और यहाँ पूरी क्षेत्र का माप लेकर एक ड्राइंग बनाई है और इसे मंदिर ट्रस्ट के कार्यालय में जमा किया है, ताकि ड्राइंग को जिला कलेक्टर कांगड़ा से निर्माण कार्य की स्वीकृति मिलने के बाद, वे अपनी निर्माण टीम को यहां भेज सके और जल्द ही निर्माण सामग्री लाकर काम शुरू कर सके।