अगले साल 2022 में देश की आजादी के 75 साल पूरे होने वाले हैं। इसके साथ ही राष्ट्रपिता महात्मा गांधी द्वारा किए गए नमक सत्याग्रह को भी 91 वर्ष पूरे हो चुके हैं। इस उपलक्ष में केंद्र सरकार ने देश के 75 जगहों पर 12 मार्च 2021 से 15 अगस्त 2022 तक "आजादी का अमृत महोत्सव" मनाने की घोषणा की है। जिसका आगाज़ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा गुजरात के अहमदाबाद में स्थित साबरमती आश्रम से 12 मार्च 2021 को किया गया। वहीँ साबरमती आश्रम मे प्रधानमंत्री जी ने सर्वप्रथम बापू को श्रद्धांजलि अर्पण किया। 

प्रधानमंत्री मोदी ने साबरमती आश्रम पहुंच कर बापू को याद करते हुए विजिटर बुक में लिखा कि "इस आश्रम में आकर त्याग और तप की भावना बढ़ जाती है। उन्होंने आगे गाँधीजी का उल्लेख करते हुए लिखा कि आत्मनिर्भरता का पहला संदेश गाँधी बापू ने ही दिया था। इस पुण्यस्थली पर आ कर खुद को धन्य महसूस कर रहा हूं, इस आश्रम में आकर राष्ट्र निर्माण का संकल्प और मजबूत होता है। पीएम ने आगे कहा कि बापू के आशीर्वाद से ही 75 हफ्तों तक चलने वाले अमृत महोत्सव का उद्देश्य पूरा होगा। 

साबरमती आश्रम से पीएम मोदी ने दांडी यात्रा को हरी झंडी देकर 75 हफ्तों तक चलने वाले "आजादी के अमृत महोत्सव" का आगाज़ कर दिया है। 

इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर लिखा, साबरमती आश्रम से अमृत महोत्सव का आगाज होने जा रहा है। यह वही जगह है जहां से दांडी मार्च की शुरुआत हुई थी। भारत के लोगों के बीच गर्व और आत्मानुभूति की भावना को आगे बढ़ाने में मार्च की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। 'वोकल फॉर लोकल' होना बापू और हमारे महान स्वतंत्रता सेनानियों को एक अद्भुत श्रद्धांजलि है।