नई दिल्ली में  'लोन एप ' के कारण एक व्यक्ति ने आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि  हरीश नाम के एक युवक ने जल्दी  कर्ज उतारने के  लिए एक एप से कर्ज लिया, जिसके कारण उन्हें इतनी मानसिक पीड़ा हुई कि उन्होंने आत्महत्या कर ली। 

कर्ज देने वाली की एप्स से लोगों की खुदखुशी से जुड़ी खबरें कुछ दिनों से फ़ैल रही थी, हैदराबाद, तेलंगाना एवं बेंगलुरु से ऐसी खबरें आ रही थीं, लेकिन देश की राजधानी से ऐसी खबर पहली बार आई है। एक काबिल शक्स की आत्महत्या करने की घटना चौंका देने वाली है। परिजनों  का कहना है कि घटना वाले दिन युवक के रिश्तेदारों और परिवार के सदस्यों से अपशब्दों का इस्तेमाल करके बोला गया कि आपके बेटे ने लोन लिया था और अब तक नहीं चुकाया है। जब हरीश को उसकी बहनों ने यह बात फोन पर बताई तब वो घर आया और उसने खुदकुशी कर ली।

 हरीश ने कुछ समय पहले लोन एप  से बहुत कम रकम की उधारी ली थी, लेकिन उनके दाएं हाथ में फ्रैक्चर आने के कारण उन्हें लोन की रकम चुकाने में देर हो गयी, जिसके कारण व्हाट्सप्प  पर एक ग्रुप बनाकर हरीश को बहुत बेइज़्ज़त किया गया, इसी कारण उन्होंने यह कदम उठाया। बताया जा रहा है कि  उस व्हाट्सप्प ग्रुप का नाम रखा गया - ''हरीश नन्द किशोर Fraud''. हरीश द्वारका सेक्टर - 8 मेट्रो स्टेशन के पास शाहबाद मुहम्मदपुर गाँव में रहते थे । व्हाट्सप्प  ग्रुप में यह मैसेज आया था -

" ये फ्रॉड है  .. सुबह से पेमेंट नहीं कर रहा है ये चोर , जब इसकी औकात नहीं थी चुकाने की तो लोन लिया ही क्यों  फोन बंद कर लिया है इस चोर ने । देख इस ग्रुप में कितने लोगों को एड करती हूँ।” 

यह भी बताया जा रहा है कि हरीश की बहन को जब ऐसे धमकी भरे फ़ोन आये तो उन्होंने अपने भाई को बताया, उस समय हरीश एक खराद की दुकान ( एक तरह की मशीन ) में काम कर रहे थे,वहाँ से वो जल्दबाज़ी में घर आए और घर वालों को सब सच- सच बताया की उनके साथ फ्रॉड हुआ है। इसके बाद उन्होंने अपने कमरे में खुद को बंद कर लिया। जब शाम तक वह बाहर नहीं आये, तो उनकी बहन ने कमरे की खिड़की से देखा कि उन्होंने आत्महत्या कर ली है। इस घटना की ये सभी बातें परिवार ने  पुलिस को दी और रिश्तेदारों को अगले दिन अंतिम संस्कार पर मौत का कारण पता चला।