कोरोना की दूसरी लहर केवल शहरों में ही नहीं बल्कि गांवों में भी अपना कहर बरपा रही है। मध्यप्रदेश के इंदौर जिले के ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना वायरस से एक ही दिन में 162 लोगों की मौत हो गई है। मंगलवार यानी 4 मई को मौत का आंकड़ा 53 था लेकिन 5 मई को मौतों की संख्या 215 पर पहुंच गई है। 


इंदौर जिले के सांवेर विकासखंड में अब तक सर्वाधिक 167 मृत्यु की संख्या दर्ज की गई है। वहीं अगर दूसरे विकासखंड की बात करे तो महू में 21, इंदौर में 17 और देपालपुर में 10 मौतें दर्ज की गई। इंदौर जिले में 312 ग्राम पंचायत है उसमें अभी तक कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 3942 तक पहुंच गई है और सक्रिय मामलों की संख्या फिलहाल 3254 है। 


मध्य प्रदेश की राज्य सरकार समेत केंद्र सरकार दोनों के लिए यह बड़ी चिंताजनक बात है क्यूंकि अब तक इस वायरस ने सिर्फ शहरों में अपना पैर पसार रहा था। पर अब जब शहर में टेस्टिंग और उपचार के लिए लोग इधर उधर भटक रहे हैं तो सोचने वाली बात है कि गांव के लोगों की हालत क्या होगी। 

पिछली बार प्रधानमंत्री मोदी ने अपने मन की बात में कोरोना को गांव तक फैलने से रोकना है इस पर विशेष जोर दिया था लेकिन इस बात को राज्य सरकार और प्रशासन ने कितना बेहतर तरीके से समझा ये देखने वाली बात होगी।