अन्य राज्यों की तरह अब गोवा में भी कोरोना के मामले बढ़ते नज़र आ रहे हैं जिसके बाद राज्य में कोरोना के नीयमो पर सख्ती दिखाई जा रही है। गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने शुक्रवार को राज्य में कोरोना संक्रमितों और मृतकों की बढ़ती संख्या को देखते हुए प्रदेश में लॉकडाउन लगाने का फ़ैसला लिया है। ये लॉकडाउन रविवार 9 मई सुबह 9 बजे से अगले 15 दिनों तक रहेगा यानी 24 मई तक। हालांकि इस दौरान सभी आवश्यक सेवाएं समय के अनुसार खोली जाएगी। 

            मुख्यमंत्री ने बताया, किराने की दुकानें सुबह 7 बजे से दिन के 1 बजे तक खुली रहेंगी और रेस्टोरेंट में सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक डिलीवरी हो पाएगी, साथ ही उन्होंने कहा मेडिकल सुविधाएं भी खुली रहेंगी। मुख्यमंत्री ने हालात बहुत गंभीर बताई है। शुक्रवार को राज्य में 56 लोगों की जान चली गई जिसमें से 7 की हॉस्पिटल ले जाते हुए ही मौत हो गई। आपको बता दें, राज्य में अभी तक शूटिंगस चल रही थी जिस पर अब पूरी तरह पाबंदी लगा दी गई है और धारा 144 सीआरपीसी के तहत, गोवा में एक जगह पांच लोग इकट्ठे नहीं हो पाएंगे। इसके अलावा उन्होंने बताया राज्य में आ रहे पर्यटकों को आरटी पीसीआर टेस्ट कि नेगेटिव रिपोर्ट या फिर दोनों टीकों का प्रमाण पत्र दिखाना होगा। हालांकि इससे पहले भी राज्य में पाबंदीया लगाई थी।

            प्रमोद सावंत ने बताया, राज्य का पॉजिटिविटी दर 51 फीसदी है जो आने वाले 10 दिनों में कम होने की उम्मीद बताई गई है और उन्होंने ये भी बताया कि राज्य में ऑक्सीजन और दवाओं की कोई कमी नहीं है। आपको बता दें, गोवा में एक दिन में 3000 से ऊपर लोग संक्रमित हो रहे हैैं, मामलों को देखते हुए सरकार आगे भी कोरोना के नियमो में बदलाव करेंगी और इस लॉकडाउन के विषय में शनिवार साम 4 बजे विस्तारपूर्वक आदेश जारी किए जाएंगे।