89वीं एनुअल जनरल मीटिंग (AGM) में IPL को लेकर बड़ा फैसले भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने लिया| यह मीटिंग अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में गुरुवार को हुई| BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ICC बोर्ड में डायरेक्टर बने रहेंगे और राजीव शुक्ला को BCCI का औपचारिक तौर पर उपाध्यक्ष बनाया गया| महिम चौधरी के बाद से उपाध्यक्ष पद खाली था| BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली की  गैरमौजूदगी में सेक्रेटरी जय शाह अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभालेंगे|

बैठक में फैसला लिया गया कि आठ टीमें 2021 के टूर्नामेंट में खेलेंगे और 2022 में दो नई टीमों को टूर्नामेंट में शामिल किया जाएगा| बैठक में यह भी फैसला लिया गया कि हर फर्स्ट क्लास क्रिकेटर (महिला-पुरुष) को कोरोना काल में हुए नुकसान का मुआवजा भी दिया जाएगा|

BCCI इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी से  स्पष्टीकरण के बाद 2028 ओलिंपिक में क्रिकेट को शामिल करने के ICC के फैसले में उनका साथ देंगे| घरेलू टूर्नामेंट्स जनवरी में हो रही सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी टी-20 चैम्पियनशिप के बाद कराए जाएंगे|
बोर्ड ने अंपायर्स, मैच रेफरी और स्कोरर्स की रिटायरमेंट उम्र 60 कर दी है, पहले रिटायरमेंट उम्र 55 थी| मीटिंग में टैक्स में छूट को लेकर भी बातचीत हुई| BCCI सेक्रेटरी जय शाह और कोषाध्यक्ष अरुण धूमल केंद्र  ICC टी-20 वर्ल्ड कप 2021 और 2023 वनडे वर्ल्ड कप को लेकर टैक्स में छूट देने के लिए सरकार से बात करेंगे। दोनों ही वर्ल्ड कप भारत की मेजबानी में होने हैं। सरकार ने  T20 वर्ल्ड कप के लिए टैक्स मैं छूट नहीं दी तो बीसीसीआई को करीब 904 करोड़ रुपए का नुकसान होगा|

नई फ्रेंचाइजी में अहमदाबाद का नाम नंबर 1 पर है
गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन ने 1 लाख 10 हजार दर्शक वाला स्टेडियम बनाया है और अहमदाबाद का यह स्टेडियम देश के सबसे बड़े स्टेडियम में शुमार है| दूसरी फ्रेंचाइजी के लिए पुणे, कानपुर और लखनऊ का नाम सामने आया है|